Monday, March 24, 2008

मेरी पसंद

ह्रदय अगर छोटा हो
तो शोक उसमें नहीं समाएगा
और दर्द दस्तक दिए बिना
लौट जाएगा .
टीस उसे उठती है
जिसका भाग्य खुलता है
वेदना गोद में उठाकर
सबको निहाल नहीं करती
जिसका पुण्य प्रबल होता है
वही अपने आंसुओं से धुलता है !
---------------------------------------
- दिनकर जी
--------------------------------------