Monday, February 9, 2009

कह पाना जिसको हो मुश्किल...!


कह पाना जिसको मुश्किल हो

बात वही मैं कह जाता हूँ

सह पाना जिसको मुमकिन हो

हर पीड़ा मैं सह जाता हूँ

दुनिया रुदन जिसे कहती है

मैं स्वर पंचम में उस दुःख के

घर में बनकर सहज सहोदर

जब तक चाहे रह जाता हूँ

====================

7 comments:

नीरज गोस्वामी said...

मैं स्वर पंचम में उस दुःख के
घर में बनकर सहज सहोदर
जब तक चाहे रह जाता हूँ
वाह जैन साहेब वाह....कमाल किया है आपने...हमेशा की तरह...शब्द और भाव.....अनुपम.
नीरज

रंजना said...

Waah ! lajawaab is baar bhi,hamesha ki tarah.

हिमांशु said...

सुन्दर रचना के लिये आभार.

Udan Tashtari said...

बहुत सुन्दर बात!!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

गागर में सागर भर देते हैं आप!

Harkirat Haqeer said...

Waah....! kitane kum sabdon me aapne itani gahri bat kah di... Bhot khoob....!!

Hindi Choti said...


Hindi sexy Kahaniya - हिन्दी सेक्सी कहानीयां

Chudai Kahaniya - चुदाई कहानियां

Hindi hot kahaniya - हिन्दी गरम कहानियां

Mast Kahaniya - मस्त कहानियाँ

Hindi Sex story - हिन्दी सेक्स कहानीयां


Nude Lady's Hot Photo, Nude Boobs And Open Pussy

Sexy Actress, Model (Bollywood, Hollywood)